सरकारी घर और अन्य सुविधाओं का किराया जमा करने के मामले में नैनीताल हाइकोर्ट पहुचे,2 पूर्व मुख्यमंत्री

हेमा जोशी,नैनीताल।

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्रियों को 6 माह के भीतर सरकारी घर का किराया समेत अन्य सुविधाओं का किराया जमा कराने का मामला एक बार फिर नैनीताल हाईकोर्ट पहुंच गया है, पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी और विजय बहुगुणा ने नैनीताल हाई कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर कर मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ से मामले में फिर से विचार करने की मांग की है,, पूर्व में नैनीताल हाईकोर्ट ने प्रदेश के सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों से 6 माह में बाजार दर से बकाया किराया जमा कराने का आदेश दिये थे,, साथ ही कोर्ट ने सरकार से चार माह के भीतर अन्य खर्चे बिजली, पानी,गनर, टेलिफोन, पेट्रोल सहित अन्य सभी खर्चों की अब तक गणना करके चार माह के भीतर वसूलने के आदेश दिए थे,, वही कोर्ट ने पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय एनडी तिवारी के मामले में  कहा है कि सरकार चाहे तो उनकी सम्पति से किराया वसूल कर सकती है,, कोर्ट के इस आदेश के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी व पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने हाईकोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की है दोनों पूर्व सीएम ने कहा है कि सरकार द्वारा किराया तय करने से पहले उन्हें नोटिस नहीं दिया गया।

आपको बता दें कि सरकार ने पांच पूर्व मुख्यमंत्रीयों पर दो करोड़ 85 लाख रुपए की राशि बकाया होने की रिपोर्ट कोर्ट में पेश की थी।जिसमे पूर्व सीएम निशंक पर 40 लाख 95 हजार,
बीसी खंडूरी पर 46 लाख 59 हजार, 
विजय बहुगुणा पर 37 लाख 50 हजार,
भगत सिंह कोश्यारी पर 47 लाख 57 हजार रुपए बकाया हैं, जबकी पूर्व मुख्‍यमंत्री स्व. एनडी तिवारी के नाम पर एक करोड़ 13 लाख रुपए की राशि बकाया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.