शव वाहन चलाने वाली कंपनी को दे दिया 108 एम्बुलेंस चलाने का ठेका, 2 महीनों में खुद 11 बार हुई दुर्घटनाग्रस्त।

हेमा जोशी,नैनीताल।

अभिजय नेगी, अधिवक्ता याचिकाकर्ता।

प्रदेश की एमरजैन्सी सेवा 108 के टैन्डर मे हुई अनियमीत्ता का मामला नैनीताल हाईकोट की शरण में पहुच गया है,,, अनियमित्ता को गंभीरता से लेते हुए हाईकोर्ट की खंडपीठ ने राज्य सरकार को 2 सप्ताह में जवाब पेश करन के आदेश दिए है साथ ही कोर्ट ने मामले में 108 सेवा संचालित करने वाली कम्पनी को नोटीश जारी कर जवाब पेश करने के आदेश दिए है,,, 
आपको बता दे कि देहरादुन निवाशी अनु पंत ने नैनीताल हाईकोट में जनहित याचिका दायर कर कहा है की प्रदेश में नवम्बर 2018 से शुरू हुई 108 सेवा के टैन्डर में काफी अनियमीत्ता है, और सरकार ने 108 सेवा का संचालन करने का टैन्डर उस कम्पनी को दिया है जो प्रदेश में शव वाहन चलाने का काम करती थी,,, वही याचिका में कहा है की बीते  2 माह के भीतर ही 11 बार 108 एम्बुलैन्स र्दुघटना ग्रस्त हो चुकी है क्यो की उनमें अनुभवी डाईवरो की नियुक्ती नही करी गई है,,, और मात्र 3 दिन का प्रशिक्षण लिए कर्मचारीयो को 108 मे नियुक्त करा गया है,,, जो गलत है,,, वही याचिकाकर्ता का कहना है की पिछले वर्ष 108 सेवा चलाने वाली कम्पनी के कार्यकाल के दौरान करीब 12 हजार प्रसव बगैर किसी र्दुघटना के कराए गए,,,
आज मामले को गंभीरता से लेते हुए राज्य सरकार को 2 सप्ताह में जवाब पेश करने के आदेश दिए है,,, वही 108 सेवा संचालित कर रही कैम्प कम्पनी को नोटीश जारी कर जवाब देने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.