राजाजी नेशनल पार्क में बाघो और लेपर्ड के अंग गड्ढे से मिलने पर हाई कोर्ट से सरकार से मांगा जवाब।

गौरव जोशी, नैनीताल

राजाजी नेशनल पार्क के दूधिया रेंज में खुदाई के दौरान 22 मार्च 2018 को लैपर्ड व टायगर के अंग बरामद होने के मामले में नैनीताल हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को जवाब पेश करने के आदेश दिए है ,

आपको बता दे कि हल्द्वानी निवासी दिनेश चन्द्र पांडे ने जनहित याचिका दायर कर कहा है कि 22 मार्च 2018 को मुखबिर द्वारा वन विभाग को सुचना दी गयी थी कि राजाजी नेशनल पार्क के दूधिया रेंज में तस्करों द्वारा लेपर्ड व टायगर का शिकार करके उनके अंगो को जमीन में गाड रखे है । इस शिकायत पर वन विभाग द्वारा इनके अंगो की जाँच कराने के लिए वाइल्ड लाइफ इंस्टिट्यूट देहरादून भेज दिया जिसमे स्पस्ट हो गया कि बरामद अंग लेपर्ड व टायगर के है। इस मामले की जाँच आईएफएस मनोज चन्द्रन द्वारा की गयी जिसमे उन्होंने वन विभाग के 11 अधिकारी 15 शिकारी व वन विभाग के कई कर्मचारी संदिग्ध पाये गए। इस रिपोर्ट को उनके द्वारा सीजेएम देहरादून को सौप दी और मनोज चद्रंन द्वारा इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए सरकार से अनुमति मांगी गयी परन्तु सरकार द्वारा मुकदमा दर्ज कराने के लिए उनको अनुमति नही दी गयी साथ में सरकार ने इनको बचाने के लिए इस मामले की जाँच दुबारा एसटीएफ के डीआईजी रिद्धिमा अग्रवाल से करने के आदेश दिए क्योंकि सरकार मनोज चन्द्रन की रिपोर्ट से संतुस्ट नही थी,,
वही आज सुनवाई के बाद कोर्ट ने सरकार द्वारा दायर शपथपत्र से संतुस्ट न होकर सरकार से अगले मंगलवार तक विस्तृत शपथपत्र पेश करने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.