भारतीय सेना के पूर्व लेफ्टिनेंट जरनल अमरजीत भल्ला का निधन.. राष्ट्रपति के राह चुके है ADC

लंबे समय से बीमार चल रहे भारतीय सेना के परमवीर सेना मेडल से समान्नित पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल अमरजीत सिंह भल्ला का निधन हो गया, जिनका 18 जनवरी को नैनीताल के भवाली स्थित शमांशन घाट में सैन्य सम्मान के साथ अंत्येष्टि कि जाएगी।
अमरजीत भल्ला की पत्नी श्रीमती प्रीति भल्ला ने बताया कि अमरजीत भल्ला सेना से रिटायर होने के बाद सन 2000 में भवाली मैं रहने आए थे, अमरजीत भल्ला को गोल्फ खेलना सबसे ज्यादा पसंद था और नैनीताल राजभवन समेत देश के विभिन्न स्थानों में होने वाली गोल्फ प्रतियोगिताओं में उन्होंने 11 ट्रॉफियां पर कब्जा किया साथ ही सेना में रहते हुए अमरजीत भल्ला सिग्नल कोर के चीफ भी रहे हैं और अमरजीत भल्ला इंजीनियरिंग,और क़ानून (लॉ) डिग्री भी ले चुके हैं वहीं सेना में विशिष्ट कार्य और बहादुरी के लिए अमरजीत भल्ला को परमवीर सेना मेडल से सम्मानित भी किया गया अमरजीत भल्ला पूर्व राष्ट्रपति के ए डी सी भी रह चुके हैं।
भल्ला की पत्नी प्रीति बताती है कि वो हमेशा फौज के सिपाहियों को अनुशासन में रहने और अपने करियर पर ध्यान देने के लिए कहते थे उनका कहना था कि अगर एक बार करियर में दाग लग जाए तो उसे मिटाना बहुत मुश्किल होता है, भल्ला सर्वप्रिय थे इसी वजह से आज भवाली क्षेत्र के लोग गमगीन है, अमरजीत भल्ला मूल रूप से दिल्ली के निवासी हैं, उनकी पत्नी ने बताया कि अमरजीत को नैनीताल की वादियां इतनी पसंद आई कि उन्होंने रिटायरमेंट के बाद भवाली में रहने का फैसला किया और कभी वापस लौट के दिल्ली नहीं गए,, भल्ला का लंबी बीमारी के बाद हल्द्वानी के एक निजी हॉस्पिटल से इलाज चल रहा था, उन्हें एक साल पहले साँस लेने में परेशानी होने से उनका इलाज हल्द्वानी में एक हॉस्पिटल से चल रहा था, भल्ला ने सेना में सेवा के दौरान पूरे भारत के सभी शहरों में रहकर सेना में सेवाएं दी है, भल्ला 1998 को भारतीय सेवा से सेवानिवृत्त हुए थे, उनका एक पुत्र है, जो दुबई में किसी संस्थान में डायरेक्टर पद में कार्यरत है, भल्ला के निधन के बाद भावली समेत क्षेत्र में शोक की लहर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.