बेकार पड़ी प्लास्टिक से बनेगा पेट्रोल, 3 दिनों तक कुमाऊं विश्व विधलाय की टीम करेगी मंथन।

कुमाऊं विश्व विद्यालय नैनीताल में 24 मई से 3 दिवशी नैनो साइंस प्रोधोगिकी अंतरास्ट्रीय सेमिनार का आयोजन करा जा रहा है जिसमे यू एस ए, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया समेत कई अन्य देशों के वैज्ञानिक प्रतिभाग करेंगे,,, वही इस सेमिनार में देश भर से करीब 100 वैज्ञानिक और शोधार्थि भी प्रतिभाग करेंगे,,,सेमिनार का उद्देश्य बढ़ रहे प्रदुषण, पोलोथिन के प्रयोग को रोकना है ताकि आने वाले समय मे दुनिया को किसी बड़े खतरे से बचाया जा सके,,वही सेमिनार में ग्राफीन के उत्पादन और उसके उपयोग पर भी विस्तार से चर्चा की जाएगी,,इससे पहले 2016 में भी अंतरास्ट्रीय सेमिनार का आयोजन करा गया था,, नैनीताल में दुसरी बार आयोजित ही रही सेमिनार में एनर्जी, फगंस्नल मटिरीयलस एण्ड नैनों टेकनालिजी एण्ड ससटेनेबल एनवायरमेंट मैनेंजमेंट को लेकर विस्तार से चर्चा होगी,,वही विश्व विधलाय के कुलपति के.एस. राणा ने बताया कि विश्व में बडते प्लास्टिक के खतरे को लेकर सभी चिंतत है जो वैज्ञानिको के लिए भी एक चुनौती बना हुआ है,, जिसको देखते हुए नेनो सांइस कि मदद से इस सममस्या से निपटने के लिए शोध किया जाएगे, जससे आने वाले समय मे लोगो को फायदा पहुचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.