फर्जी शिक्षकों की नियुक्ति का मामला पहुँचा नैनीताल हाई कोर्ट…

टी सी पांडेय,अधिवक्ता।

हेमा जोशी,नैनीताल।

प्रदेश में 3500 फर्जी शिक्षकों की नियुक्ति का मामला नैनीताल हाईकोर्ट की शरण में पहुंच गया है मामले को गंभीरता से लेते हुए नैनीताल हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन की खंडपीठ ने उत्तराखंड के शिक्षा सचिव को 15 अप्रैल तक अपनी विस्तृत रिपोर्ट कोर्ट में पेश करने के आदेश दिए हैं कोर्ट ने शिक्षा सचिव से पूछा है कि उत्तराखंड में कितने फर्जी शिक्षक पाए गए और उन पर विभाग द्वारा क्या कार्रवाई की गई इसकी विस्तृत रिपोर्ट जिलेवार हाई कोर्ट में पेश करें।आपको बता दें कि हल्द्वानी के स्टूडेंट गार्डन वेलफेयर सोसायटी ने नैनीताल हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर कहा है कि प्रदेश भर में 3500 शिक्षकों की नियुक्ति फर्जी दस्तावेजों के आधार पर की गई जिस पर विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा 2018 में एसआईटी के द्वारा मामले में जांच की गई जिसमें लगभग 100 शिक्षकों के प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए, लेकिन अब तक विभाग के द्वारा इनके विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं की गई, कोर्ट पहुंचे याचिकाकर्ताओं ने मामले की उच्चस्तरीय जांच किसी स्वतंत्र एजेंसी से करवाने की मांग की है, साथ ही उन अधिकारियों पर भी कार्रवाई की मांग की गई है जिन लोगों के द्वारा फर्जी शिक्षकों के प्रमाण पत्रों को गलत होने के बावजूद सही दिखाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.