पायलट बाबा की जमानत पर बना संसय, आखिर कब होगी जमानत



नैनीताल हाईकोर्ट ने धोखाधड़ी के मामले में जेल गए पाइलट बाबा की जमानत याचिका में सुनवाई करते हुए अगली तिथि 12 अप्रैल की नियत की है ओर 12 अप्रैल तक जांच अधिकारी ( आइओ )से एफआईआर की प्रगति रिपोर्ट कोर्ट में पेश करने को कहा है । मामले की सुनवाई न्यायाधीश रविन्द्र मैठाणी के एकलपीठ में हुई। मामले के अनुसार गोजाजाली निवासी हरीश पाल ने ज्योलिकोट थाने में 25 नवम्बर 2008 को एक तहरीर इस आशय से दर्ज कराई गयी थी कि आइकवा इंटरनेशनल एजुकेशन द्वारा तल्ला गेठिया में कम्युटर सञ्चालन करने के लिए उनको पचास हजार पाँच सौ रूपये देने का आस्वाशन हिमांशु राय ,पाइलट बाबा,इशरत खान व अन्य ने दिया था परन्तु उनको वह रकम नही दी गयी जिसकी वजह से उन्होंने इन लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। पूर्व में जिला एवं सत्र न्यायधीश नैनीताल की कोर्ट ने पायलट बाबा को जेल भेज दिया था जिसके खिलाफ उन्होंने जमानत के लिए हाई कोर्ट में जमानत याचिका दायर की है। पाइलट बाबा का अपनी जमानत याचिका में कहा है कि वह 6 दिसम्बर 2006 से 4 जनवरी 2007 तक इण्डिया से बाहर टोकियो मे थे, और उनके द्वारा कोई धोखाधड़ी नही करी गयी, वही उन्होंने संस्था के लोगो को दोषी बताया और कहा कि

हिमांशु राय द्वारा उनकी सोसायटी के रजिस्ट्रेशन करने हेतु 19 दिसम्बर 2006 को फार्म खरीदा था और 20 दिसम्बर को उनके फर्जी हस्ताक्षर करके 22 दिसम्बर 2006 को सोसायटी का रजिस्ट्रेशन करा दिया गया था।जब उनको 2010 में इसका पता चला तो उन्होंने रजिस्ट्रार चिट फंड सोसायटी में इसकी शिकायत की जिस पर रजिस्ट्रार ने 24 सितम्बर 2010 हिमांशु राय के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश एसएचओ मुखानी को दिया परन्तु इस पर एसएचओ द्वारा आगे कोई कार्यवाही नही की गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.