इंदिरा गांधी के बाद दूसरी महिला विदेश मंत्री रही भजपा की कद्दावर सुषमा स्वराज का निधन, देश में शोक की लहर।

दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का मंगलवार देर रात एम्स में निधन हो गया। सीने में दर्ज की शिकायत के बाद 67 वर्षीय सुषमा को रात 9:35 बजे एम्स लाया गया था,, हृदय गति रुकने से उनका निधन हो गया। उन्होंने अपने अंतिम ट्वीट में कश्मीर पर सरकार के कदम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी थी। उन्होंने कहा था कि वह इस दिन का पूरे जीवनभर इंतजार कर रही थीं,,, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत कई केंद्रीय मंत्री और नेता देर रात एम्स पहुंचे,, सुषमा स्वराज का पार्थिव शरीर अभी उनके घर पर रखा गया है,, जिसके बाद सुषमा स्वराज के शरीर को जनता के दर्शन के लिए भाजपा मुख्यालय में रखा जाएगा और 3 बजे लोधी रोड शमशान घाट में अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा, सुषमा स्वराज के निधन पर राष्ट्रपति कोविन्द ने दुख व्यक्त कर कहा है कि देश ने अपनी एक अत्यंत प्रिय बेटी खोई है, सुषमा जी सार्वजनिक जीवन में गरिमा, साहस और निष्ठा की प्रतिमूर्ति थीं, लोगों की सहायता के लिए वे हमेशा तत्पर रहती थीं, उनकी सेवाओं के लिए सभी भारतीय उन्हें सदैव याद रखेंगे।

पीएम मोदी ने भी सुषमा की मौत के बाद ट्वीट कर दी श्रद्धांजलि।

सुषमा स्वराज के निधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा की सुषमा जी का निधन मेरे लिए निजी क्षति है, वे उन महान कार्यों के लिए बड़ी आत्मीयता से याद की जाएंगी,जो उन्होंने देश के लिए किया।

इंदिरा गांधी के बाद दूसरी महिला विदेश मंत्री बनी थी सुषमा।
नेतृत्व क्षमता के लिहाजा से सुषमा स्वराज को भाजपा में दूसरी पीढ़ी के सबसे दमदार राजनेताओं में गिना जाता रहा है। 2014 में हुए लोकसभा चुनावों में उन्होंने विदिशा से जीत हासिल की। उनकी काबिलियत और पार्टी में उनके योगदान को देखते हुए मोदी ने उन्हें विदेश मंत्री बनाया। इंदिरा गांधी के बाद सुषमा स्वराज दूसरी ऐसी महिला थीं, जिन्होंने विदेश मंत्री का पद संभाला था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.