आज भी उत्तराखंड के पहाड़ी हिस्से मूलभूत सुविधाओं से कोषो दूर,कब जागेगी सरकार।

गौरव जोशी,नैनीताल

भले ही प्रदेश बने 18 साल हो गए है लेकिन आज भी प्रदेश में गाव स्वास्थ, शिक्षा, सड़क समेत मूल भूत सुविधाओ से कोषो दूर है । एक ऐसा ही मामला सामने आया है नैनीताल के कुकुन गांव का जहा घायल युवती को अस्पताल लाने के लिए उसके परिजनों को जीतोड़ मेहनत करनी पड़ी क्यों कि गांव में आज तक ना सड़क पहुच सकी है और ना ही कोई प्राथमिक स्वास्थ सुविधा जिस वह से ग्रामीणों को जिला मुख्यालय नैनीताल या हल्द्वानी के अस्पातल जा के उपचार करवाना पड़ता हैं।


नैनीताल के भीमताल ओखल कांडा के गांव कूकना की 21 वर्षीय हंसा देउपा पेड़ पर चढ़कर चारा काट रही थी इस दौरान पेड़ से गिर का उसकी कमर में गहरी चोट लग गई सड़क ना होने के कारण ग्रामीण डोली में बैठाकर पैदल 15 किमी दूर तक देवली गांव मैं सड़क तक पहुंचाया जहां 108 की हड़ताल के कारण परिजन उसे निजी वाहन से हल्द्वानी सुशीला तिवारी अस्पताल लाए ग्रामीणों ने शासन प्रशासन और विधायक पर आरोप लगाया कि ग्रामवासी कई वर्षों से सड़क की मांग कर रहे हैं लेकिन सुध लेने वाला कोई नहीं है सड़क की मांग के लिए 2014 में लोकसभा चुनाव का बहिष्कार भी किया था लेकिन उसके बाद भी अभी तक सड़क नहीं बन पाई है जिसके कारण हमको कई किलोमीटर पैदल चलकर जाना पड़ रहा है विधायक राम सिंह कड़ा सड़क बनवाने का आश्वासन दिया था लेकिन आज तक नहीं बन पाई है जिसके कारण हम ग्रामीण को हर बार दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है राज्य सरकार चाहे ग्रामीण क्षेत्रों में विकास के लाख दावे करें लेकिन धरातल में अभी भी बहुत कुछ किया जाना बाकी है ग्रामीण क्षेत्रों में नई सड़क ना स्वास्थ्य कुछ भी नहीं है जिसका कारण ग्रामीण उपेक्षा महसूस कर रहे हैं घायल युवती को कई किलोमीटर पहाड़ी रास्तों से व झाड़ियों के बीच से डोली में बैठाकर लाना पड़ा है जिस कारण ग्रामीण बड़े आक्रोश दिखाई दे।

गौरव जोशी,नैनीताल।

9411303836

Leave a Reply

Your email address will not be published.