अब केंद्र सरकार एक और बढ़े उधोग को निजी हाथों में देने की तैयारी में, इस उद्योग से होता है 100% का मुनाफा।

कार्तिके हरि गुप्ता, अधिवक्ता हाई कोर्ट नैनीताल।

नैनीताल हाई कोर्ट ने रामनगर की आई एम पी एल (इंडियन मेडिसीन फार्मास्युटिकल्स कारपोरेशन लिमिटेड) को निजी हाथो में देने के मामले में केन्द्र सरकार को 4 सप्ताह के भीतर जवाब पेश करने के आदेश दिए है। 

आई एम पी एल कर्मचारी संघ रामनगर ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर कहा है कि केन्द्र सरकार द्धारा आईएमपीएल फैक्टी को निजी हाथो में दिया जा रहा है जो लगत है फैक्टी को निजी हाथो में देने से कर्मचारीयो के भविष्य पर खतरा मडरा रहा है,, साथ ही इस फैक्टी से सरकार को 1984 से लगातार फायदा हो रहा है जिसके बावजुद भी सरकार इसे निजी हाथो में दे रही है,,जो फैक्ट्री नियमावली के भी विपरीत है,,, वही याचिकाकर्ता ने याचिका में कहा है की केंद्र सरकार 15 साल से घाटे में चल रही एयर इण्डिया को निजी हाथो में तो नही दे रही है लेकिन सौ प्रतिशत लाभ देने वाली कम्पनी को निजी हाथो में देने जा रही है जो गलत है,,, लिहाजा सरकार के फैसले पर रोक लगाई जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.